चित्रों में: सऊदी विश्वविद्यालय दो नए पुनर्जागरण उपग्रह विकसित करता है

जानकारी फैलाइये

“सऊदी शनि 5” अंतरिक्ष और उपग्रहों के क्षेत्र में अधिग्रहण की उपलब्धियों की साम्राज्य की सूची में जोड़ता है। (सऊदी राजपत्र)

शनिवार, 6 अक्टूबर 2018

किंग अब्दुलअज़ीज़ सिटी फॉर साइंस एंड टेक्नोलॉजी ने दो नए पुनर्जागरण उपग्रहों, “सऊदी शनि 5 ए” और “सऊदी सैट 5 बी” विकसित किए, जो कि इस साल लॉन्च होने वाली सऊदी रिमोट सेंसिंग उपग्रहों की दूसरी पीढ़ी के उच्चतम सटीकता में जोड़ा जाएगा,सऊदी राजपत्र रिपोर्ट के अनुसार।

उपग्रह उद्योग और विकास के क्षेत्र में काम कर रहे सऊदी विशेषज्ञता और दक्षताओं ने केएसीएसटी प्रयोगशालाओं में अंतर्राष्ट्रीय मानकों के अनुसार दो उपग्रहों का निर्माण और परीक्षण किया।

रिपोर्ट के मुताबिक, यह राष्ट्रीय उपलब्धि सऊदी अरब के राज्य में अनुसंधान और विकास के लिए दो पवित्र मस्जिदो के संरक्षक द्वारा प्रदान किए गए राजा सलमान और क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान, डिप्टी प्रीमियर और रक्षा मंत्री के सामान्य रूप से और विशेष रूप से केएसीएसटी के महान समर्थन के परिणामस्वरूप आती है।

“सऊदी शनि 5” अंतरिक्ष और उपग्रहों के क्षेत्र में अधिग्रहण की उपलब्धियों की साम्राज्य की सूची में जोड़ता है।

केएसीएसटी ने 13 उपग्रहों को भी लॉन्च किया और चीनी लोगों के साथ “चंगी 4” सैटेलाइट के अन्वेषण मिशन में भाग लिया।

विश्वविद्यालय ने रिमोट सेंसिंग सिस्टम के लिए उन्नत सेवाएं प्रदान कीं, और वाणिज्यिक जहाजों के उपग्रह ट्रैकिंग और नियंत्रण के लिए एक विकसित प्रणाली शुरू की। इस प्रणाली में दुनिया भर में 30,000 जहाजों के जहाज यातायात का व्यापक दैनिक कवरेज शामिल है।

दो नए उपग्रहों का शुभारंभ साम्राज्य प्रौद्योगिकियों को स्थानीयकृत करने, स्थानीय सामग्री को अधिकतम करने और सऊदी युवाओं को उपग्रहों के विकास और निर्माण में उन्नत प्रौद्योगिकियों के ज्ञान को सशक्त बनाने के लिए सशक्त बनाने के उद्देश्य से राज्य के विजन 2030 के हिस्से के रूप में आता है।

यह आलेख पहली बार अल-अरबिया इंग्लिश में प्रकाशित हुआ था

यदि आप इस वेबसाइट के अधिक रोचक समाचार या वीडियो चाहते हैं तो इस लिंक पर क्लिक करें अल-अरबिया इंग्लिश होम 


जानकारी फैलाइये