सऊदी अरब की प्रगति के लिए महिलाओं की सशक्तिकरण चाबी है, संयुक्त राष्ट्र मंच ने बताया

जानकारी फैलाइये

अक्टूबर ०९, २०१८

संयुक्त राष्ट्र में सऊदी अरब के मिशन ने जोर देकर कहा है कि किंगडम के विकास में महिलाओं की भागीदारी सऊदी विजन २०३० का एक प्रमुख पहलू है। (ट्विटर फोटो)

सऊदी अरब के विकास में महिलाओं की भागीदारी सऊदी विजन २०३० का एक प्रमुख पहलू है

जेद्दाह: सऊदी अरब ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के ७३ वें सत्र की सामाजिक, मानव और सांस्कृतिक समिति के विचार-विमर्श में हिस्सा लिया, एसपीए की सूचना दी।

दर्शकों को संबोधित करते हुए, किंगडम के मिशन ने कहा कि सऊदी अरब के विकास में महिला भागीदारी सऊदी विज़न २०३० का एक प्रमुख पहलू है।
सऊदी प्रतिनिधियों ने कहा कि राज्य मानव तस्करी को रोकने और लड़ने के लिए लगातार प्रयास कर रहा है।

हाल ही में, राज्य ने महिला ड्राइविंग पर प्रतिबंध भी हटाया, जिससे महिलाओं की वित्तीय शक्ति को बढ़ावा मिलेगा और उन्हें विजन २०३० के साथ आर्थिक और सामाजिक विविधीकरण में बड़ी भूमिका निभाने की अनुमति मिलेगी।

श्रम बाजार में सऊदी महिलाओं की भागीदारी में बढ़ोतरी से राज्य के विजन २०३० के सबसे महत्वपूर्ण लक्ष्यों में से एक को हासिल करने में मदद मिलेगी, जो कि २०१६ में सऊदी महिलाओं की भागीदारी को २२ प्रतिशत से तक बढ़ाकर ३० प्रतिशत कर सकती है। इससे मदद मिलेगी सऊदी महिलाओं के बीच बेरोजगारी दर को काम करने में, जो ३३ प्रतिशत के रिकॉर्ड उच्च तक पहुंच गई है।

एक अर्थशास्त्री के मुताबिक राज्य में कई क्षेत्रों में कारों की बिक्री की अनुमति देने वाली महिलाओं से लाभ होगा, जैसे कार की बिक्री, २०१७ में एसआर ४४ बिलियन से २०२२ तक एसआर १०८ अरब तक पहुंचने की उम्मीद है।

यह आलेख पहली बार अरब न्यूज़ में प्रकाशित हुआ था

यदि आप इस वेबसाइट के अधिक रोचक समाचार या वीडियो चाहते हैं तो इस लिंक पर क्लिक करें अरब न्यूज़ होम

am


जानकारी फैलाइये